लखनऊ के इन अस्पतालों में लापरवाही की हद…

कहते हैं अस्पतालों में लोगों को जिंदगी की नई रोशनी मिलती है, नई उम्मीद मिलती है। लेकिन यहां  पता नहीं ये इलाज हो रहा है या मजाक हो रहा है। यूपी की चरमराई स्वास्थ्य सेवाओं का हाल ऐसा है, कि वो सुधरने का नाम ही नहीं ले रही हैं। मरीजों को जिंदगी देने वाली स्वास्थ्य सेवाएं खुद कोमा में नजर आ रही हैं।…ये हम नहीं बल्कि यूपी की राजधानी लखनऊ की हालिया तस्वीरें बयां कर रही हैं। जहां इलाज देने के नाम पर लापरवाही का आलम नजर आया और इसका नतीजा ये हुआ कि एक साथ 48 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई। सामने आ रहा है कि इसमें राजधानी के नामी-गिरामी अस्पताल शामिल हैं।

इन अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों को लेकर भारी लापरवाही बरती गई। इन निजी अस्पतालों में सभी भर्ती मरीज रेफर किये गए थे। लेकिन यहां मरीजों की फिक्र छोड़िये,उनका सही तरीके से इलाज छोड़िये,उनकी जांच तक उचित तरीके से नहीं की गई। आरोपी अस्पतालों में जिले के मशहूर निजी अस्पताल शामिल हैं। सबसे पहले जिक्र शहर के नामी अस्पताल चरक का। जहां 10 मरीज भेजे गए थे,लेकिन इन सबकी वहां मौत हो गई। वहीं चंदन हॉस्पिटल में 11 कोरोना संक्रमित भेजे गए जिनकी मौत हो गई। अपोलो हॉस्पिटल का भी कमोबेश यही हाल पाया गया। यहां भी लापरवाही के चलते 17 संक्रमित मरीजों की मौत हो गई। मशहूर मेयो हॉस्पिटल में भी 10 मरीजों को रेफर किया गया था,लेकिन इन सभी संक्रमित मरीजों की मौत हो गई। निजी अस्पतालों में हुई कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद राजधानी में हड़कंप मच गया। जिसके बाद हरकत में आए प्रशासन ने जवाबदेय अधिकारियों को तलब किया है।

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने इनके खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई करने की बात कही है। जिलाधिकारी ने इन अस्पतालों को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है। लेकिन हैरानी वाली बात ये है कि इन सभी 48 कोरोना मरीजों की मौत तब हो गई, जब देश में संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर में लगातार इजाफा देखा जा रहा है। लिहाजा इन अस्पतालों में किसने लापरवाही बरती, क्या लापरवाही बरती गई,क्या कामचोरी को अंजाम दिया गया या फिर इन अस्पतालों में मरीजों की जांच ही नहीं हुई। बहरहाल इन निजी अस्पतालों के खिलाफ ऐपिडेमिक ऐक्ट के तहत सख्त कार्रवाई की बात कही जा रही है।

0 Replies to “लखनऊ के इन अस्पतालों में लापरवाही की हद…”
Local News
News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *